हौसले की मिसाल:कभी पिता के साथ स्कूल में चाय और पकौड़े बेचते थे, आज कड़ी मेहनत के दम पर IPS बने अल्ताफ शेख

शेख साधारण परिवार से ताल्लुक रखते हैं। स्कूल के दिनों में वे पिता की दुकान पर काम में मदद करते थे। - Dainik Bhaskar

शेख साधारण परिवार से ताल्लुक रखते हैं। स्कूल के दिनों में वे पिता की दुकान पर काम में मदद करते थे।

कुछ करने की इच्छा, लगन और मेहनत के दम पर पुणे से सटे बारामती में चाय-पकौड़े बेचने वाले शख्स के बेटे ने UPSC की परीक्षा पास की है। बारामती तालुका के काटेवाडी के रहने वाले अल्ताफ शेख IPS अफसर बनेंगे। उनके पिता गांव में चाय और पकौड़े की छोटी सी दुकान लगाते हैं। उन्होंने 545वीं रैंक हासिल की है। अपने स्कूल के दिनों में अल्ताफ पिता की दुकान पर मदद करते थे। इस्लामपुर के नवोदय विद्यालय से उनकी स्कूली पढ़ाई हुई। बाद में उन्होंने फूड टेक्नोलॉजी में बी.टेक किया।

इससे पहले अल्ताफ ने 2015 में भी UPSC की परीक्षा पास की थी। तब उनकी उम्र 22 साल थी। उन्होंने केंद्रीय गृह विभाग में डिप्टी एसपी के तौर पर जॉइन किया था। शुरुआत में शेख उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले में तैनात थे। इसके बाद फरवरी में उनका तबादला उस्मानाबाद कर दिया गया। नौकरी करने के दौरान उनका एक बार फिर से IPS के लिए चयन हो गया है।

अल्ताफ इस्लामपुर के नवोदय विद्यालय के छात्र हैं। उनके IPS बनने के बाद से उनके स्कूल में भी जश्न का माहौल है।

अल्ताफ इस्लामपुर के नवोदय विद्यालय के छात्र हैं। उनके IPS बनने के बाद से उनके स्कूल में भी जश्न का माहौल है।

डिप्टी CM को भी दिया सफलता का श्रेय

अल्ताफ शेख ने अपनी कामयाबी का श्रेय डिप्टी CM अजित पवार को भी दिया है। पवार ने ग्रामीण क्षेत्र के युवाओं को प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए तैयार करने के लिया बारामती में राष्ट्रवादी कैरियर अकैडमी की शुरुआत की थी। अजित पवार के निजी सहायक सुनील कुमार मुसले ने भी इस अकैडमी की स्थापना में अहम योगदान दिया है। अल्ताफ ने पहली बार UPSC की परीक्षा इसी अकादमी में पढ़ाई कर पास की थी।

सांसद सुप्रिया सुले ने भी अल्ताफ की मेहनत की तारीफ की है।

सांसद सुप्रिया सुले ने भी अल्ताफ की मेहनत की तारीफ की है।

सुप्रिया सुले ने की शेख की तारीफ

शेख की सफलता के लिए बारामती समेत पूरे पुणे में उनकी तारीफ हो रही है। NCP नेता और सांसद सुप्रिया सुले ने शेख को सोशल मीडिया में बधाई दी और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *