पंजाब में अरूसा आलम पर सियासी घमासान:ISI कनेक्शन की जांच से पीछे हटी सरकार; अमरिंदर ने अरूसा की सोनिया गांधी संग फोटो जारी की

  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Political Turmoil Over Aroosa Alam In Punjab, Randhawa Turned Away From Investigating ISI Connection By Going To Delhi; Amarinder Releases Arusa’s Photo With Sonia

जालंधर2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
अमरिंदर ने इस सोनिया गांधी संग इस तस्वीर के जरिए कांग्रेसियों को अरूसा आलम की पहुंच दिखाई। - Dainik Bhaskar

अमरिंदर ने इस सोनिया गांधी संग इस तस्वीर के जरिए कांग्रेसियों को अरूसा आलम की पहुंच दिखाई।

पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह की पाकिस्तानी महिला दोस्त अरूसा आलम पर सियासी घमासान छिड़ गया है। गृह विभाग देख रहे डिप्टी सीएम सुखजिंदर रंधावा के बयान से इसकी शुरुआत हुई। रंधावा ने अरूसा आलम के ISI कनेक्शन की जांच के लिए कहा था, जिसके बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने उन पर ताबड़तोड़ हमले शुरू कर दिए। दोनों ट्विटर पर भी भिड़ते रहे।

हालांकि दिल्ली पहुंचकर रंधावा जांच से मुकर गए। उन्होंने कहा कि यह तो 2 देशों से जुड़ा मामला है, जिसकी जांच RAW ही कर सकती है। हालांकि कांग्रेसियों को उनकी हद और अरूसा आलम की पहुंच दिखाते हुए कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सोनिया गांधी के साथ फोटो भी जारी कर दी।

डिप्टी सीएम सुखजिंदर रंधावा

डिप्टी सीएम सुखजिंदर रंधावा

ऐसे शुरू हुआ विवाद

डिप्टी सीएम रंधावा जालंधर के PAP कांप्लेक्स में पुलिस स्मृति दिवस में आए थे। यहां उन्होंने कैप्टन अमरिंदर सिंह को घेरने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि अरूसा आलम यहां साढ़े 4 साल अमरिंदर के सरकारी रेजिडेंस में रहीं। वह डीजीपी को अरूसा के ISI से कनेक्शन की जांच करवाने के लिए कह रहे हैं।

कुछ घंटे बाद बरसे कैप्टन अमरिंदर सिंह

इसके बाद कैप्टन रंधावा पर बरस पड़े। उन्होंने रंधावा से पूछा कि क्या वह पर्सनल अटैक पर आ गए हैं। जब रंधावा मेरी सरकार में मंत्री थे, तब तो कोई शिकायत नहीं की। अरूसा 16 वर्षों से भारत सरकार की क्लियरेंस पर यहां आ रही है। क्या रंधावा यह कह रहे हैं कि NDA के साथ कांग्रेस की अगुवाई वाली UPA सरकार भी ISI से मिली हुई है। वे ऐसी फिजूल की जांच के बजाय पंजाब में अमन-कानून व्यवस्था पर फोकस करें।

कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ अरूसा आलम

कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ अरूसा आलम

अमरिंदर के बयान से तिलमिलाए रंधावा

अमरिंदर की बातों से रंधावा भी तिलमिला गए। उन्होंने कहा कि मैं सच्चा राष्ट्रवादी हूं। हमने पंजाब सरकार को किसी से आउटसोर्स नहीं किया है। पुलिस अब चीकू और सीताफल नहीं, बल्कि लोगों की सुरक्षा कर रही है। मौड़ मंडी ब्लास्ट, बरगाड़ी बेअदबी और नशे के मामले में अमरिंदर फेल रहे। अब हम इन सबको आने वाले दिनों में इनकी जांच के अंजाम तक पहुंचाएंगे। गुटका साहिब की कसम खाने के बावजूद आप मुद्दों पर फेल रहे। अरूसा के ISI लिंक की जांच से क्यों घबरा रहे हैं। उनका वीजा किसने स्पांसर किया, सबकी जांच होगी।

अमरिंदर ने भी दिए करारे जवाब

अमरिंदर ने रंधावा को कहा कि 2007 में अरूसा की विस्तृत जांच हो चुकी है। तब वह CM भी नहीं थे। तब की UPA सरकार के आदेश पर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) ने इसकी जांच करके उन्हें वीजा दिया था। अब आप इस पर समय बर्बाद कर रहे हो। इसमें जो भी मदद चाहिए, मैं करूंगा। मैं 16 वर्षों से अरूसा के वीजा को स्पांसर करता हूं। ऐसे वीजा के लिए भारतीय हाई कमीशन के जरिए विदेश मंत्रालय को आवेदन भेजा जाता है। जिसे RAW और IB की क्लीयरेंस के बाद मंजूर किया जाता है। हर बार यही हुआ है। अमरिंदर ने मुद्दे को लेकर भी रंधावा को घेरा और कहा कि श्री गुरू ग्रंथ साहिब की बेअदबी की जांच के लिए उनकी सिफारिश पर ही कुंवर विजय प्रताप सिंह और रणबीर सिंह खटड़ा को नियुक्त किया गया था।

अरूसा विवाद में सुखबीर भी कूदे

शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर बादल भी इस विवाद में कूद पड़े। उन्होंने कहा कि साढ़े 4 साल तक रंधावा कुछ नहीं बोले। तब रंधावा अरूसा आलम के साथ लंच और डिनर करते थे। जब मैं कुछ कहता तो सबसे ज्यादा विरोध रंधावा ही करते थे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *