सोशल मीडिया पर चुनावी जंग:पंजाब कांग्रेस ने 21 जनरल सेक्रेटरी और सेक्रेटरी नियुक्त किए, अकाली दल के पूर्व IT हेड को भी किया शामिल

  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Election Battle On Social Media, Punjab Congress Appointed 21 General Secretaries And Secretaries, Former IT Head Of Akali Dal Also Included

चंडीगढ़एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव केसी वेणुगोपाल के साथ अकाली दल के पूर्व IT प्रधान परमिंदर बराड़। - Dainik Bhaskar

कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव केसी वेणुगोपाल के साथ अकाली दल के पूर्व IT प्रधान परमिंदर बराड़।

सोशल मीडिया पर दुष्प्रचार को टक्कर देने के लिए पंजाब कांग्रेस ने भी पूरी तैयारी कर ली है। पंजाब कांग्रेस ने 21 जनरल सेक्रेटरी और सेक्रेटरी नियुक्त कर दिए हैं, जो चुनाव के वक्त पंजाब कांग्रेस के लिए सोशल मीडिया पर जंग लड़ेंगे। इसमें तालमेल के लिए नवजोत सिद्धू और सरकार के खेमे के लोगों को शामिल किया गया है।

यही नहीं, अकाली दल के IT विंग के हेड परमिंदर बराड़ को भी कांग्रेस ने अपने साथ मिला लिया है। कांग्रेस इस बंदोबस्त से दोहरे लाभ की तैयारी में है। इसमें एक तो सरकार के कामकाज और सीएम चेहरे की छवि को सोशल मीडिया पर चमकाया जाएगा। वहीं विरोधी पार्टियों के आरोपों को भी कांग्रेस की तरफ से जवाब मिलेगा।

परमिंदर बराड़

परमिंदर बराड़

6 जनरल सेक्रेटरी बनाए

  • डॉ. मनजीत सिंह सरोया
  • सिम्मी आहूजा
  • रमन जंगराल
  • जॉन ठक्करवाल
  • भवराज सिंह
  • अक्षय पुंज

15 सेक्रेटरी बनाए गए

  • रणजीतपाल छीना
  • अक्षय पुंज
  • कमल आहूजा
  • राना बल
  • राकेश भारद्वाज
  • परमिंदर सिंह मान
  • गिरधर मित्तल
  • नवीन गिरधर
  • दिलप्रीत खैहरा
  • दलबीर रंधावा
  • परमिंदर पहलवान
  • राजीव कक्कड़
  • प्रकाश सिद्धू
  • मनप्रीत सिंह
  • हिम्मत ग्रेवाल
यह टीम पार्टी और सरकार की तरफ से विरोधियों को सोशल मीडिया पर जवाब देगी

यह टीम पार्टी और सरकार की तरफ से विरोधियों को सोशल मीडिया पर जवाब देगी

परमिंदर बराड़ ने दिया अकाली दल काे झटका

परमिंदर सिंह बराड़ ने अकाली दल को चुनाव से पहले बड़ा झटका दिया है। परमिंदर बराड़ 2018 से 2021 तक अकाली दल के स्टूडेंट ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इंडिया (SOI) के प्रधान रहे। वह इसके फाउंडर भी हैं। 2019 में बराड़ की अगुवाई में ही सोई ने पंजाब यूनिवर्सिटी का चुनाव जीता। 2009 से 2017 तक वह यूथ अकाली दल के महासचिव रहे। सुखबीर बादल के डिप्टी सीएम रहते उनके OSD रहे। 2009 से 2016 तक बिक्रम मजीठिया के भी OSD रहे। 2014 से 2017 तक वे अकाली दल के IT विंग के प्रधान रहे।

इसलिए अहम… AAP की टीम मजबूत, अकाली भी कर रहे इस्तेमाल

चुनाव में सोशल मीडिया की भूमिका अहम हो जाती है। इसे पहली बार पिछले विस चुनाव में आम आदमी पार्टी ने समझा। पार्टी हित और विरोधियों के खिलाफ इससे खूब माहौल तैयार किया। सोशल मीडिया के जरिए लोगों को कहा गया कि पंजाब में आप की सरकार बननी तय है। इसका असर जमीनी स्तर पर भी दिखने लगा। यहीं अकाली दल मात खा गया। इस बार अब अकाली दल के नेता भी सोशल मीडिया पर सक्रिय हो गए। बड़े नेताओं के साथ अलग-अलग ग्रुप बनाकर सरकार और विरोधियों पर सवाल उठए जा रहे हैं। सोशल मीडिया की लड़ाई में खुद को मजबूत करने के लिए पंजाब कांग्रेस ने भी अपनी सेना तैयार कर ली है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *