टीके के बाद मौतें 12 गुना कम:भारत में 10 करोड़ ने नहीं लगवाई दूसरी डोज, यह कितना खतरनाक, इस रिपोर्ट से समझें

  • Hindi News
  • International
  • Deaths After Vaccine Are 12 Times Less 10 Crores Did Not Take Second Dose In India, Understand How Dangerous It Is From This Report
वैक्सीन लगवाने के बाद संक्रमित होने की आशंका भी 6 गुना कम पाई गई है। - Dainik Bhaskar

वैक्सीन लगवाने के बाद संक्रमित होने की आशंका भी 6 गुना कम पाई गई है।

अमेरिका में कोरोना से 10 अप्रैल से 3 सितंबर के बीच हुईं 1.82 लाख मौतों पर आधारित ताजा सरकारी रिपोर्ट सामने आई है। यह वैक्सीन का असर दर्शाती अब तक की सबसे व्यापक रिपोर्ट है। इसके मुताबिक, अमेरिका में वैक्सीनेशन के बाद संक्रमित होने वालों की मृत्युदर सिर्फ 0.w14% रही है। यानी 10 हजार मरीजों में 14 मौतें हुईं।

जबकि, बिना वैक्सीन वाले मरीजों की मुत्युदर 1.65% रही, जो वैक्सीनेशन वाले मरीजों के मुकाबले 12 गुना ज्यादा है। वहीं, वैक्सीन लगवाने के बाद संक्रमित होने की आशंका भी 6 गुना कम पाई गई। इसी तरह अस्पताल में भर्ती कराए जाने वाले वैक्सीनेटेड मरीजों की दर भी सामान्य कोरोना मरीजों से 6 गुना कम दर्ज की गई।

राहत: वैक्सीनेशन के बाद 50 से कम उम्र में मौतें बहुत कम

  • वैज्ञानिकों में इस डेटा को लेकर सबसे ज्यादा उत्साह है। टीका लगवाने के बाद 64 साल से कम उम्र के लोगों में मृत्युदर लगभग शून्य हो गई है।

बुजुर्गों को बूस्टर बचा रहे… बच्चों को टीके कम, इसलिए वे ज्यादा संक्रमित

  • बच्चों का वैक्सीनेशन देर से शुरू हुआ। इसलिए ये ज्यादा संक्रमित हो रहे। जिन्हें टीके लगे हैं, उनके संक्रमित होने की दर बुजुर्गों जैसी ही है। यानी, टीके का असर हर उम्र पर एक जैसा है। इसलिए मौतें भी कम हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *