भास्कर रिसर्च:देश

  • Hindi News
  • National
  • Country 1.53 Lakh Suicides In 2020, Of Which 1 Lakh Youth; 67% Of The People Who Commit Suicide In The Country Are In The Age Group Of 18 To 45 Years.

दुनिया की सबसे युवा आबादी वाले देशों में शुमार भारत में जिंदगी से जल्दी हार मानने वालों में भी सबसे ज्यादा युवा हैं। एनसीआरबी की रिपोर्ट के मुताबिक, 2020 में कुल 1,53,052 लोगों ने खुदकुशी की। करीब 67% (1.06 लाख) लोगों की उम्र 18 से 45 साल के बीच थी। इनमें भी 18 से 30 साल की उम्र वाले सबसे ज्यादा 52,702 थे। वहीं, इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ मैट्रिक्स एंड इवैल्यूएशन (आईएचएमई) की एक रिपोर्ट के मुताबिक, बाकी दुनिया में ये ट्रेंड ठीक उलट है। वहां 70 साल से ऊपर के लोग सबसे ज्यादा आत्महत्याएं करते हैं।

खुद अपनी जान देने वालों में 18 साल से कम उम्र वाले सबसे कम

सुसाइड रेट; हम अमेरिका व रूस जैसे देशों से बेहतर

सुसाइड रेट (प्रति एक लाख की आबादी पर आत्महत्याएं) में भारत की स्थिति अमेरिका-रूस से कहीं बेहतर है। 2020 में भारत में यह 10.4 और 2019 में 11.3 रही। अमेरिका में यह 16.1 और रूस में 25.1 हो चुकी है।

58% लोगों ने फंदा लगाया… जबकि विदेशों में सर्वाधिक आत्महत्याएं जहर खाकर हो रहीं

देश में 2020 के दौरान कुल 88,460 लोगों ने फंदा लगाकर मौत को गले लगाया। जहर खाकर जान देने वाले 38,336 थे। वहीं, दुनिया के अन्य देशों में सबसे ज्यादा आत्महत्याएं जहर खाकर की गईं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *