पठानकोट ग्रेनेड ब्लास्ट आतंकी हमला:पंजाब पुलिस और काउंटर इंटेलिजेंस टैरर एंगल से ही कर रहे जांच, बरामद कार चोरी की निकली

अमृतसर5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
त्रिवेणी द्वार के पास जांच करती सुरक्षा एजेंसी टीम। - Dainik Bhaskar

त्रिवेणी द्वार के पास जांच करती सुरक्षा एजेंसी टीम।

पंजाब पुलिस और इसके काउंटर इंटेलिजेंस विंग ने रविवार-सोमवार की दरम्यानी रात में पठानकोट में आर्मी कैंटोनमेंट के गेट पर हुए हैंड ग्रेनेड ब्लास्ट को आतंकी हमला माना है। पंजाब के काउंटर इंटेलिजेंस के एआईजी गुलनीत खुराना ने कहा है इस ग्रेनेड हमले में आतंकी एंगल जरूरी है और पंजाब पुलिस इसकी जांच शुरू कर चुकी है।

रविवार देर रात पठानकोट में भारतीय सेना की छावनी के त्रिवेणी गेट पर हैंड ग्रेनेड फेंका गया। ग्रेनेड फेंकने वाले बाइक पर आए और वारदात के बाद फरार हो गए। हमले के समय गेट पर ड्यूटी दे रहे जवान थोड़ी दूरी पर थे इसलिए कोई हताहत नहीं हुआ।

पठानकोट छावनी का त्रिवेणी द्वार, जहां वारदात हुई।

पठानकोट छावनी का त्रिवेणी द्वार, जहां वारदात हुई।

आसपास का इलाका सील

पठानकोट में आर्मी कैंटोनमेंट के त्रिवेणी गेट पर ग्रेनेड हमले के बाद घटनास्थल के आसपास के इलाके को सील कर दिया गया। पंजाब पुलिस और मिलिट्री पुलिस के अलावा अन्य जांच एजेंसियां इस ग्रेनेड हमले की जांच कर रही हैं। ग्रेनेड फेंकने वाले बाइक सवार किधर से आए और किधर गए? इसके बारे में फिलहाल न तो सैन्य अधिकारी कुछ बता रहे हैं और न ही पंजाब पुलिस कुछ बोल रही है। सुरक्षा के लिहाज से पठानकोट बेहद संवेदनशील स्टेशन है जो भारत-पाक इंटरनेशनल बॉर्डर के नजदीक है और इसकी सीमाएं जम्मू-कश्मीर से भी मिलती हैं।

ग्रेनेड हमले के बाद पंजाब पुलिस, काउंटर इंटेलिजेंस और सीआईडी की टीमें एक साथ जांच में जुटी हैं। सुरक्षा बल आर्मी कैंटोनमेंट के बाहर लगे क्लोज सर्किट (सीसी) कैमरों की फुटेज भी खंगाल रहे हैं। इसके अलावा आसपास के सारे इलाके में सर्च ऑपरेशन चल रहा है।

त्रिवेणी द्वार के पास वारदात के बाद जांच करती टीम।

त्रिवेणी द्वार के पास वारदात के बाद जांच करती टीम।

चोरी की निकली कार

इस घटना के बाद पंजाब पुलिस ने गुरदासपुर और पठानकोट जिले की सीमा पर लावारिस हालत में खड़ी जो कार बरामद की थी, वह 4 दिन पहले चोरी हो गई थी। पुलिस जब जांच करते हुए कार मालिक तक पहुंची तो उसने यह जानकारी दी। चोरी के बाद ही इस कार की नंबर प्लेट से छेड़छाड़ की गई। लुधियाना नंबर वाली यह कार रविवार से ही हाईवे किनारे खड़ी थी।

इंटरनेशनल बॉर्डर पर बीएसएफ अलर्ट

पठानकोट में ग्रेनेड हमले के बाद भारत-पाक इंटरनेशनल बॉर्डर पर भी सुरक्षा बढ़ा दी गई। बीएसएफ ने इंटरनेशनल बॉर्डर के आसपास रेड अलर्ट जारी किया है। गौरतलब है कि पंजाब के गुरदासपुर, अमृतसर, तरनतारन, फिरोजपुर और फॉजिल्का जिले का लगभग 600 किलोमीटर लंबा इलाका इंटरनेशनल बॉर्डर से लगता है। यहां की सुरक्षा का जिम्मा बीएसएफ के पास है।

पठानकोट आर्मी कैंट पर आतंकी हमला:पाकिस्तान बॉर्डर से डेढ़ किमी दूर बमियाल में 2 संदिग्ध देखे गए; पुलिस, आर्मी और BSF का ड्रोन से सर्च ऑपरेशन

त्रिवेणी द्वार के पास जांच करती सुरक्षा एजेंसी की टीम।

त्रिवेणी द्वार के पास जांच करती सुरक्षा एजेंसी की टीम।

कांगड़ा में अलर्ट जारी, बॉर्डर एरिया में बढ़ाई सुरक्षा

उधर पठानकोट में ग्रेनेड हमले के बाद इससे सटे हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में भी सुरक्षा कड़ी कर दी गई। कांगड़ा की पंजाब से लगती सभी सीमाओं पर नाकेबंदी कर दी गई। कांगड़ा के एसपी खुशाल शर्मा ने कहा कि पठानकोट में हुए ग्रेनेड हमले को देखते हुए सुरक्षा कड़ी की गई है। हिमाचल प्रदेश की सीमाएं पठानकोट के अलावा पंजाब के दूसरे जिलों से भी लगती है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *