श्रीनगर में सड़क पर एनकाउंटर:जम्मू-कश्मीर पुलिस के ऑपरेशन में स्कूल प्रिंसिपल को मारने वाला TRF कमांडर समेत तीन आतंकी ढेर

  • Hindi News
  • National
  • Srinagar Rambagh Terrorists Encounter Update; TRF Commander Killed By Security Forces

श्रीनगरएक घंटा पहले

जम्मू-कश्मीर में पुलिस के हाथ बड़ी सफलता लगी है। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने श्रीनगर में बुधवार शाम को हुए एनकाउंटर में तीन आतंकी ढेर कर दिए हैं, जिनमें से एक TRF का शीर्ष कमांडर मेहरान यासीन साल्ला है। श्रीनगर के जामलाता निवासी मेहरान ने ही पिछले दिनों स्कूल प्रिंसिपल सुपिंदर कौर और एक अन्य कश्मीरी पंडित टीचर को निशाना बनाया था।

जम्मू-कश्मीर पुलिस के DGP दिलबाग सिंह के मुताबिक, एनकाउंटर में ढेर किए गए दोनों अन्य आतंकियों की पहचान पुलवामा निवासी मंजूर अहमद और कुलगाम निवासी बासित अहमद डार के तौर पर की गई है।

मेहरान का पुलिस रिकॉर्ड में दर्ज प्रोफाइल।

मेहरान का पुलिस रिकॉर्ड में दर्ज प्रोफाइल।

रामबाग एरिया में शाम के समय हुआ एनकाउंटर

श्रीनगर के रामबाग एरिया में जम्मू-कश्मीर पुलिस की SOG और CRPF की कमांडो टीम ने एक सूचना पर रामबाग एरिया में सर्च शुरू की। इसी दौरान भीड़भाड़ वाले एरिया में उनकी आतंकियों के साथ भिड़ंत हो गई। यह भिड़ंत आतंकी हरकतों के लिए कुख्यात लालचौक से एयरपोर्ट जाने वाली सड़क पर रामबाग फ्लाईओवर के पास हुई। एनकाउंटर में सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को मार गिराया। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, दोनों तरफ से चली फायरिंग के दौरान तीन आतंकी मौके पर ही ढेर हो गए। इस दौरान इलाके में अफरातफरी के हालात बने रहे।

रामबाग ब्रिज के पास इसी जगह पर हुआ एनकाउंटर।

रामबाग ब्रिज के पास इसी जगह पर हुआ एनकाउंटर।

एक की जेब में मिला आधार कार्ड, 6 जून से था घर से लापता

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, एनकाउंटर में मारे गए तीनों आतंकियों से हथियार बरामद किए गए हैं। एक आतंकी की जेब में उसका आधार कार्ड भी मिला। आधार कार्ड से उसकी पहचान पुलवामा के बाभरा निवासी मंजूर अहमद के तौर पर हुई है, जो पिछली 6 जून से अपने घर से लापता चल रहा था। पुलिस रिकॉर्ड में मंजूर अहमद का नाम हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी के तौर पर दर्ज है।

एनकाउंटर के बाद मौके पर बिखरा पड़ा खून।

एनकाउंटर के बाद मौके पर बिखरा पड़ा खून।

पुलिस ने चलाया तलाशी अभियान

एनकाउंटर के बाद सुरक्षा बलों ने एरिया में तलाशी अभियान चलाया। माना जा रहा है कि इन आतंकियों के साथ और लोग भी मौजूद थे, जो भीड़ के कारण भागने में सफल हो गए। ये भी माना जा रहा है कि तीनों आतंकी रामबाग एरिया में ही कहीं छिपे हुए थे और वहीं से निकलकर कहीं वारदात को अंजाम देने जा रहे थे। उनके मददगारों की तलाश की जा रही है।

तलाशी अभियान चलाते सुरक्षा बल के जवान।

तलाशी अभियान चलाते सुरक्षा बल के जवान।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *