आज का इतिहास:महिलाओं को पहली बार मिला वोटिंग का अधिकार, न्यूजीलैंड ने ऐसा करके रचा था इतिहास

  • Hindi News
  • National
  • Women Got Voting Rights For The First Time, Woman Commander Created History By Flying Airbus A 300

भारत जिस दिन आजाद हुआ, उसी दिन से महिलाओं को वोटिंग का अधिकार मिल गया था। अमेरिका को देश की महिलाओं को वोट देने का अधिकार देने में 144 साल लग गए थे। ब्रिटेन को तो एक सदी का समय लग गया। कुछ ऐसा ही था न्यूजीलैंड भी, जहां 13 साल के संघर्ष के बाद महिलाओं को वोटिंग का अधिकार मिल पाया था। न्यूजीलैंड दुनिया का पहला देश है, जिसने सबसे पहले महिलाओं को वोट देने का अधिकार दिया था।

न्यूजीलैंड की सरकारी वेबसाइट पर मौजूद जानकारी के मुताबिक, यहां महिलाओं को भी वोटिंग का अधिकार मिले। इसके लिए 1880 के आसपास आंदोलन शुरू हुआ। महिलाओं को वोटिंग का अधिकार दिलाने की लड़ाई के लिए वुमंस क्रिश्चियन टेम्परेंस यूनियन (WCTU) बना, जिसकी लीडर केट शेपर्थ थीं।

केट शेफर्ड, जिन्होंने न्यूजीलैंड में महिलाओं को वोटिंग अधिकार दिलाने की लड़ाई लड़ी थी।

केट शेफर्ड, जिन्होंने न्यूजीलैंड में महिलाओं को वोटिंग अधिकार दिलाने की लड़ाई लड़ी थी।

केट शेपर्थ ने ही महिलाओं को वोटिंग के अधिकार की लड़ाई लड़ी। इसके लिए उन्होंने एक पिटीशन पर साइन करवाई। उन्होंने करीब तीन साल मेहनत की, तब जाकर 32 हजार महिलाओं के साइन मिल पाए। ये उस समय की न्यूजीलैंड की महिला आबादी का करीब एक चौथाई था।

उनकी पिटीशन पर समर्थन मिलने के बाद 8 सितंबर 1893 को बिल लाया गया। इसके बाद 19 सितंबर को लॉर्ड ग्लास्गो ने बिल पर साइन कर इसे कानून बनाया। तब जाकर महिलाओं को वोटिंग का अधिकार मिला। 28 नवंबर 1893 को हुए आम चुनाव में महिलाओं ने पहली बार वोट डाले। पहले चुनाव में 1.09 लाख महिला वोटर थीं, जिसमें से 82% यानी 90,290 महिलाओं ने वोट डाला।

1996: पहली बार किसी महिला ने उड़ाया एयरबस A-300

एयरबस A-300 विमान अमेरिकी कंपनी बोइंग ने बनाया है। ये विमान काफी बड़ा है। 28 नवंबर 1996 से पहले तक इसे सिर्फ पुरुषों ने ही उड़ाया था। लेकिन 28 नवंबर 1996 को कैप्टन इंद्राणी सिंह ने इसे उड़ाकर इतिहास रच दिया। कैप्टन इंद्राणी सिंह इस विमान की कमांडर भी थीं।

कैप्टन इंद्राणी सिंह बनी थीं एयरबस A-300 उड़ाने वाली पहली महिला।

कैप्टन इंद्राणी सिंह बनी थीं एयरबस A-300 उड़ाने वाली पहली महिला।

वो दुनिया की पहली महिला हैं, जो एयरबस A-300 की कमांडर रहीं। इंद्राणी को 1986 में पायलट का लाइसेंस मिला और कुछ वक्त बाद वो एयर इंडिया के बोइंग 737 की पायलट बन गईं।

भारत और दुनिया में 28 नवंबर की महत्वपूर्ण घटनाएं इस प्रकार हैंः

2012: सीरिया की राजधानी दमिश्क में दो कार बम धमाकों में 54 की मौत हुई और 120 घायल हुए।

1997: प्रधानमंत्री इंद्रकुमार गुजराल ने अपने पद से इस्तीफा दिया।

1966: डोमनिकन रिपब्लिक ने संविधान अपनाया।

1962: बंगाल के प्रसिद्ध दृष्टिहीन गायक केसी डे का निधन।

1956: चीन के प्रधानमंत्री चाऊ एन लाई भारत दौरे पर आए।

1954: महान भौतिकशास्त्री एनरिको फर्मी का निधन हुआ।

1912: इस्माइल कादरी ने तुर्की से अल्बानिया के आजाद होने की घोषणा की।

1821: पनामा ने स्पेन से आजाद होने की घोषणा की।

1814: द टाइम्स ऑफ लंदन को पहली बार ऑटोमैटिक प्रिंट मशीन से छापा गया।

1676: बंगाल की खाड़ी के तट पर पूर्वी भारत के महत्वपूर्ण बंदरगाह पुड्डचेरी पर फ्रांसीसियों का कब्जा।

1660: लंदन में द रॉयल सोसायटी का गठन हुआ।

1520: फर्डिनान्द मैगलन ने प्रशांत महासागर को पार करने की शुरुआत की।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *