भास्कर स्टिंग:फ्रांस से चल रहा है देश के 25 शहरों में जाली करंसी का रैकेट, सरगना ने फैला रखा है 50 एजेंटों का नेटवर्क

  • Hindi News
  • National
  • Fake Currency Racket Is Running From France In 25 Cities Of The Country, The Kingpin Has Spread A Network Of 50 Agents

बांसवाड़ा/ नई दिल्ली2 घंटे पहलेलेखक: प्रियंक भट्‌ट और चिराग द्विवेदी

  • कॉपी लिंक
भास्कर की मदद से दिल्ली पुलिस ने साउथ अफ्रीकी नागरिक को दबोचा। - Dainik Bhaskar

भास्कर की मदद से दिल्ली पुलिस ने साउथ अफ्रीकी नागरिक को दबोचा।

देश में 500 और 2000 के जाली नोट चलाए जा रहे हैं और यह पूरा रैकेट फ्रांस से ऑपरेट हो रहा है। सप्लाई के लिए दिल्ली और बेंगलूरू को हब बनाया गया है। यहां से पूरे देश में जाली करंसी सप्लाई की जा रही है। यह खुलासा बांसवाड़ा में दैनिक भास्कर की टीम के स्टिंग ऑपरेशन में हुआ है। रैकेट का सरगना फ्रांस में बैठा माइकल नाम का व्यक्ति है। उसके एजेंट्स के तौर पर भारत में 50 से ज्यादा लोगों का नेटवर्क काम कर रहा है जिसमें ज्यादातर साउथ अफ्रीकी नागरिक हैं। ये एजेंट 25 शहरों में नोट सप्लाई करते हैं।

भास्कर टीम ने ग्राहक बनकर सरगना माइकल से वॉट्सएप पर बातचीत की। उसने कहा कि जितने भी नकली नोट चाहिए हों, उसके 25% के बराबर असली नोट देने होंगे। सैंपल दिखाने के लिए उसने दिल्ली में अपने एजेंट का नंबर दिया। भास्कर टीम दिल्ली में इस एजेंट यातारे से मिलने पहुंची जो साउथ अफ्रीका का है। वहां पहचान पुष्ट होने के बाद दिल्ली पुलिस ने यातारे को गिरफ्तार कर लिया।

वॉट्सएप चैट में डील, दिल्ली-बेंगलूरू में फ्री सैंपल देने को राजी…सीधा हिसाब-25 लाख असली नोट दो, 1 करोड़ के नकली लो

वीडियो कॉल में दिखाईं नोटों की गडि्डयां

भास्कर टीम ने फ्रांस में बैठे माइकल से वॉट्सएप नंबर +33752583492 पर संपर्क किया। चैटिंग में उसने कहा कि जहां चाहें वहां नकली नोट मिल सकते हैं। कुछ दिन तक चली बातचीत के बाद भास्कर टीम ने सवाल किया कि कैसे यकीन करें आपके पास नकली नोट हैं। माइकल ने वीडियो कॉल के जरिये नोटों की गडि्डयां दिखाईं। उसने कहा कि 25 लाख के असली नोटों के बदले 1 करोड़ के नकली नोट मिल जाएंगे।

सरगना का दावा-बैंक की टेलर मशीन भी नहीं पकड़ सकती

माइकल ने दावा किया कि उसके नकली नोटों को बैंक भी नहीं पकड़ पाएंगे। भास्कर टीम ने जब सवाल उठाया तो उसने एक वीडियो भेजा जिसमें 24840 रुपए टेलर मशीन में गिनकर दिखाए। इसमें 2000 और 500 रुपए के नोट के साथ ही 100, 50 और 20 रुपए के नोट भी थे।

पकड़ा गया साउथ अफ्रीकी एजेंट हर ग्राहक की पूरी जांच कर सरगना को बताता था; डील होने पर 10% कमीशन मिलता था

भास्कर टीम ने डील के लिए हामी भरी तो माइकल के एजेंट यातारे ने वाट्सएप नंबर 7835929389 के जरिए संपर्क किया। उसने दिल्ली के महिपालपुर में बुलाया। भास्कर टीम जयपुर के साइबर एक्सपर्ट जयदीप शर्मा के साथ दिल्ली पहुंची और स्थानीय पुलिस से संपर्क किया। यातारे ने भास्कर टीम को सुबह 11 बजे होटल के बाहर बुलाया।

उसके साथ बाइक पर दो युवक और एक साउथ अफ्रीकी लड़की थी। उनके पास एक बैग भी था। यातारे ने कहा, सैंपल के लिए साथ चलना होगा। वह ऑटो से जाएगा। ऑटो में बैठते ही पुलिस ने उसे दबोच लिया। हालांकि उसके साथी भाग निकले। वसंत कुंज थाने के एसआई दुर्गाप्रसाद राठौड़ के मुताबिक यातेरा ने पूछताछ में जाली करंसी के रैकेट की बात स्वीकारी है। वह 10% कमीशन पर काम करता था। पुलिस नेटवर्क की दूसरी कड़ियां तलाश रही है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *