पंजाब कैसे लड़ेगा ओमिक्रॉन से?:पूरी आबादी को नहीं लगी कोरोना वैक्सीन; पहली डोज लेने वाले नहीं लगवा रहे दूसरी, चुनावी रैलियों से बढ़ा खतरा

चंडीगढ़एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

पंजाब कोविड-19 के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन से जंग कैसे लगेगा? यह सवाल इसलिए क्योंकि अभी तक पूरी योग्य आबादी को वैक्सीन नहीं लगी है। यही नहीं, जिन लोगों ने पहले डोज ली, वे दूसरी नहीं लगवा रहे। पंजाब के लिहाज से हालात चिंताजनक इसलिए भी हैं, क्योंकि जल्द विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। चुनाव प्रचार के लिए पंजाब में ताबड़तोड़ चुनावी रैलियां हो रही हैं, जिनमें राजनीतिक ताकत दिखाने के लिए खूब भीड़ जुटाई जा रही है। दूसरे प्रदेशों के नेता यहां आ रहे हैं। मास्क और फिजिकल डिस्टैंस नदारद है, जिससे पंजाब पर खतरा मंडरा रहा है।

दूसरी डोज के मुकाबले पहली लेने के लिए लोग वैक्सीनेशन सेंटर आ रहे हैं। हालांकि पहले की तरह पर्याप्त प्रबंध न होने से परेशानी हो रही है।

दूसरी डोज के मुकाबले पहली लेने के लिए लोग वैक्सीनेशन सेंटर आ रहे हैं। हालांकि पहले की तरह पर्याप्त प्रबंध न होने से परेशानी हो रही है।

आंकड़ों में देखें, पंजाब में कोविड वैक्सीन की स्थिति

पंजाब में कोविड वैक्सीन के आंकड़े देखें तो 2.77 करोड़ से ज्यादा की आबादी वाले पंजाब में 2.44 करोड़ लोग कोविड वैक्सीन लगवा चुके हैं। हालांकि इनमें 1.66 करोड़ लोग पहली डोज वाले हैं। वहीं दूसरी डोज सिर्फ 78 लाख लोगों ने ही लगवाई है। पंजाब सरकार प्लानिंग के नाम पर कागज काले कर रही है, लेकिन ग्राउंड लेवल पर कोई असर नजर नहीं आ रहा।

सरकार ने फ्रंटलाइन और हेल्थकेयर वर्करों को पब्लिक डीलिंग से हटाने की चेतावनी दी थी, इसके बावजूद दोनों डोज लेने के प्रति कोई उत्साह नजर नहीं आ रहा।

सरकार ने फ्रंटलाइन और हेल्थकेयर वर्करों को पब्लिक डीलिंग से हटाने की चेतावनी दी थी, इसके बावजूद दोनों डोज लेने के प्रति कोई उत्साह नजर नहीं आ रहा।

फ्रंटलाइन और हेल्थकेयर वर्कर ही दूसरी डोज नहीं ले रहे

कोरोना से बचने के लिए कोविड वैक्सीन ही एकमात्र उपाय है। यह बात लोगों को समझाने वाले हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर ही दूसरी डोज नहीं ले रहे। पंजाब में शुक्रवार तक 2 लाख 17 हजार 109 हेल्थकेयर वर्करों ने फर्स्ट डोज ली है, लेकिन सेकेंड डोज लेने वालों की गिनती 1 लाख 39 हजार 010 है। फ्रंटलाइन वर्करों की हालत तो और भी बदतर है। पंजाब में 11 लाख 53 हजार 285 फ्रंटलाइन वर्कर फर्स्ट डोज ले चुके हैं, लेकिन सेकेंड डोज सिर्फ 3 लाख 37 हजार 861 लोगों ने ही ली है।

आम लोग भी दूसरी डोज नहीं ले रहे

उम्र के लिहाज से देखें तो 45 साल से ज्यादा उम्र के 63 लाख 23 हजार 389 लोग फर्स्ट डोज ले चुके हैं, लेकिन सेकेंड डोज 34 लाख 12 हजार 216 लोगों ने ही लगवाई। 18 से 44 साल के बीच के 88 लाख 08 हजार 106 लोग वैक्सीन की पहली डोज ले चुके हैं, लेकिन दूसरी डोज 39 लाख 37 हजार 330 लोगों ने ही ली है।

लगातार बढ़ते कोविड केसों ने पंजाब में चिंता और बढ़ा दी है।

लगातार बढ़ते कोविड केसों ने पंजाब में चिंता और बढ़ा दी है।

पंजाब में लगातार बढ़ रहे कोविड केस

ओमिक्रॉन वैरिएंट के खतरे के बीच पंजाब में कोविड के केस लगातार बढ़ रहे हैं। शुक्रवार तक राज्य में एक्टिव केसों की गिनती 359 हो गई, जो गुरुवार तक 344 थे। पंजाब में सरकार ने टेस्टिंग को जरूर 17 हजार से बढ़ा 31 हजार कर लिया है, लेकिन 40 हजार डेली के टारगेट से अब भी पीछे है। ओवरऑल पंजाब में अब तक 6 लाख 03 हजार 410 कोविड मरीज मिल चुके हैं, जिनमें से 5 लाख 86 हजार 444 ठीक हो चुके हैं, जबकि 16 हजार 607 की मौत हो चुकी है। 53 मरीज ऑक्सीजन, ICU और वेंटिलेटर जैसे लाइफ सेविंग सपोर्ट पर हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *