आवाज दबाने वाला पंजाब पुलिस का फॉर्मूला:​​​​​​​फंक्शन में CM चन्नी के विरोध में नारेबाजी हो तो DJ बजा देना, नारे की आवाज न सुनाई दे

चंडीगढ़3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

हक मांग रहे संगठनों की आवाज दबाने के लिए पंजाब पुलिस ने गजब का फॉर्मूला निकाला है। अफसरों को कहा गया है कि अगर कहीं फंक्शन में CM चरणजीत चन्नी का विरोध हो तो ऊंची आवाज में DJ बजा देना, ताकि नारेबाजी की आवाज CM तक न पहुंचे। सीएम सिक्योरिटी देखने वाली स्पेशन प्रोटेक्शन यूनिट के IG ने यह फरमान निकाला है, जिसे सभी DC, पुलिस कमिश्नर और SSP को भेज दिया गया है।

हालांकि जब यह सार्वजनिक हो गया तो पंजाब पुलिस तुरंत यूटर्न मार गई। कहा कि यह तो क्लेरिकल मिस्टेक हो गई। जब कोई अपनी फरियाद CM को बताए तो लाउडस्पीकर की आवाज कम कर देना, ताकि सीएम को उनकी आवाज अच्छी तरह सुन सके।

यह था फरमान

IG ने लिखा कि जब भी कहीं CM का फंक्शन होता है तो उनके रास्ते में जगह-जगह अलग-अलग संगठन ऊंची आवाज में नारेबाजी करते हैं। इसलिए भविष्य में जब भी आपके इलाके में फंक्शन हो तो जहां यह संगठन प्रदर्शन कर रहे हों, वहां DJ लगा देना। कोई नारेबाजी करे तो DJ पर ऊंची आवाज में गुरबाणी शबद और धार्मिक गीत लगा देना, ताकि सीएम के कानों तक नारेबाजी की आवाज न पहुंचे।

पहले जारी किया आदेश

पहले जारी किया आदेश

क्लेरिकल मिस्टेक के बहाने यूटर्न

पंजाब पुलिस का यह फॉर्मूला लीक हो गया तो अफसर यूटर्न ले गए। इस फरमान को विदड्रॉ कर लिया गया। उस पत्र पर आगे की कार्रवाई करते हुए DJ का फॉर्मूला रोक लिया गया। इसे क्लेरिकल मिस्टेक बताकर डैमेज कंट्रोल करते हुए आदेश दिया गया कि जब भी सीएम आम पब्लिक की फरियाद सुनते हों तो लाउडस्पीकर की आवाज कम कर देना, ताकि सीएम को आम पब्लिक की बात सुनने में कोई दिक्कत न हो।

पंजाब पुलिस का वापस लिया आदेश

पंजाब पुलिस का वापस लिया आदेश

जाखड़ बोले- यह लोकतंत्र का मजाक

हर बात पर पंजाब कांग्रेस और सरकार को घेरने वाले पंजाब कांग्रेस के पूर्व प्रधान सुनील जाखड़ ने कहा कि यह सच नहीं हो सकता। यह तो लोकतंत्र का मजाक है।

हड़ताली कर्मचारियों ने CM चन्नी के नारे भी बदले

पंजाब में मुख्यमंत्री बनते ही चरणजीत चन्नी के प्रचार के लिए नारा बना दिया गया। जिसमें लिखा जाता था ‘घर-घर विच चल्ली गल, चन्नी करदा मसले हल’। अब पक्का करने और रोजगार की मांग कर रहे कर्मचारियों ने इसका तोड़ बना दिया। सुनवाई न होने के बाद कर्मचारी नारे लगा रहे हैं। घर-घर विच चल्ली गल, चन्नी तों नहीं हुंदे मसले हल, चन्नी दी नई मनदा कोई गल।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *