CDS रावत का चॉपर क्रैश:बेटियों ने श्मशान घाट से माता-पिता की अस्थियां इकट्ठा कीं, हरिद्वार में विसर्जित होंगी

  • Hindi News
  • National
  • CDS General Bipin Rawat Madhulika Rawat Daughters Kritika Tarini Collected Ashes

नई दिल्ली9 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

CDS जनरल बिपिन रावत और मधुलिका रावत की बेटियों कृतिका और तारिणी ने आज दिल्ली छावनी के बरार स्क्वायर श्मशान घाट से अपने माता-पिता की अस्थियां इकट्ठा कीं। इसके लिए कृतिका और तारिणी आज सुबह अंत्येष्टि स्थल पर पहुंची थीं। CDS रावत और मधुलिका की अस्थियों को कलश में रखकर लाल कपड़े से बांधा गया था।

बेटियों ने नम आंखों से अपने माता-पिता की अस्थियों को नमन किया। इसके बाद वह अस्थियां लेकर वहां से चली आईं। इस दौरान दोनों बहुत ही भावुक नजर आईं। अस्थियां आज हरिद्वार में विसर्जित की जाएंगी।

शुक्रवार को नई दिल्ली में बरार स्क्वायर श्मशान में अपने माता-पिता के अंतिम संस्कार के दौरान दोनों बेटियां कृतिका और तारिणी।

शुक्रवार को नई दिल्ली में बरार स्क्वायर श्मशान में अपने माता-पिता के अंतिम संस्कार के दौरान दोनों बेटियां कृतिका और तारिणी।

पत्नी मधुलिका के साथ परमात्मा में लीन हुए CDS रावत

देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) जनरल बिपिन रावत अपनी पत्नी के साथ गुरुवार को परमात्मा में लीन हो गए। राजकीय सम्मान के साथ दिल्ली कैंट में शाम 4:56 बजे जनरल रावत और उनकी पत्नी मधुलिका को एक ही चिता पर दोनों बेटियों ने एक साथ मुखाग्नि दी।

बरार स्क्वायर श्मशान में अपने माता-पिता के दाह संस्कार के दौरान जनरल रावत की दोनों बेटियां।

बरार स्क्वायर श्मशान में अपने माता-पिता के दाह संस्कार के दौरान जनरल रावत की दोनों बेटियां।

जलते शवों को देखकर खुद को संभाल नहीं पाईं

हिंदू धर्म की मान्यता के अनुसार अंतिम संस्कार के दौरान सभी रस्मों और रिवाजों को पूरा किया गया। दोनों बेटियों ने मां और पिता की पार्थिव देह पर चंदन और घी डालने की रस्में पूरी कीं। माता-पिता के जलते शवों को देखकर दोनों बेटियां खुद को संभाल नहीं पाईं। परिजन बार-बार उन्हें गले लगाकर और आंसू पोंछकर चुप करवा रहे थे।

हेलिकॉप्टर में 14 लोग सवार थे, 13 की मौत

बुधवार को हुए हेलिकॉप्टर क्रैश में देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) जनरल बिपिन रावत का निधन हो गया। इस हेलिकॉप्टर में उनके साथ पत्नी मधुलिका के अलावा सेना के 13 जवान और अधिकारी सवार थे।

हादसे में शहीद होने वालों में ब्रिगेडियर एलएस लिड्‌डर, लेफ्टिनेंट कर्नल हरजिंदर सिंह, विंग कमांडर पीएस चौहान, स्क्वॉड्रन लीडर के सिंह, नायक गुरसेवक सिंह, नायक जितेंद्र कुमार, लांस नायक विवेक कुमार, लांस नायक बी. साई तेजा, जूनियर वारंट ऑफिसर दास, जूनियर वारंट ऑफिसर ए प्रदीप और हवलदार सतपाल सवार थे। हेलिकॉप्टर क्रैश में अकेले बचने वाले शख्स हैं ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह, जो फिलहाल गंभीर स्थिति में हैं और बेंगलुरु में उनका इलाज चल रहा है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *