भाजपा का सिखों पर चुनावी दांव:सिख समाज से जुड़े 13 काम गिनाए; यह गिनती पहले गुरु बाबा नानक के ‘तेरा-तेरा’ सिद्धांत से जुड़ी हुई

  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Prime Minister Narendra Modi; BJP Release Work Details For Sikh Community Ahead Of Assembly Election In Punjab, UP And Uttarakhand

चंडीगढ़41 मिनट पहलेलेखक: मनीष शर्मा

  • कॉपी लिंक

पंजाब, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा ने सिखों पर चुनावी दांव खेला है। भाजपा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काम के सहारे सिख समाज से जुड़े 13 काम गिनाए] जिनमें करतारपुर कॉरिडोर के निर्माण से लेकर अफगानिस्तान से सिखों को भारत लाने जैसी उपलब्धियां शामिल की गई हैं। भाजपा ने सिर्फ 13 ही काम गिनाए, इसके जरिए भी सिखों को प्रभावित करने की कोशिश की गई है।

सिखों के प्रथम गुरू श्री गुरुनानक देव जी ने तेरा-तेरा का सिद्धांत दिया था। सिख समाज इस वक्त भाजपा से नाराज चल रहा है] जिसकी बड़ी वजह किसान आंदोलन है। हालांकि अब विवादित कृषि सुधार कानून वापस होने के बाद आंदोलन खत्म हो चुका है] जिसके तुरंत बाद भाजपा ने यह सियासी कोशिश की है।

PM नरेंद्र मोदी के गुरुद्वारे में माथा टेकते की वीडियो भी जारी की गई।

PM नरेंद्र मोदी के गुरुद्वारे में माथा टेकते की वीडियो भी जारी की गई।

पंजाब सिख बहुल स्टेट, UP और उत्तराखंड में अच्छी संख्या

देश में पंजाब सिख बहुल स्टेट है, जहां इस वक्त अकाली दल से गठबंधन तोड़ने के बाद भाजपा बड़ी चुनावी चुनौती झेल रही है। उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद, रामपुर, बरेली जैसे कई जिलों में सिखों की अच्छी तादाद है। वहां लखीमपुर खीरी में किसानों को जीप से कुचलने के मामले में केंद्रीय मंत्री पर आरोप के बाद भाजपा की छवि खराब हुई है। वहीं उत्तराखंड में उधमपुर समेत कई क्षेत्रों में सिखों की अच्छी आबादी है।

सिख समाज के लिए गिनाए मोदी सरकार के काम

सिख समाज के लिए गिनाए मोदी सरकार के काम

यह है बाबा नानक का तेरा-तेरा सिद्धांत

कपूरथला के सुल्तानपुर लोधी में श्री गुरुनानक देव जी नवाब के भंडारगृह में काम करते थे। यहां गुरुनानक देव जी जरूरतमंदों की मदद करते थे। कुछ लोगों ने सुल्तान को चुगली कर दी कि बाबा नानक के कारण मोदीखाना लुट रहा है। वह कोई चीज तोलते नहीं और ‘तेरा-तेरा’ कहकर सामान दे देते हैं। हालांकि जब इसका हिसाब जोड़ा गया तो मोदीखाने में रुपए ज्यादा ही निकले। इससे जुड़ा गुरुद्वारा हट्‌ट साहिब भी बना हुआ है।

कृषि कानून वापसी का भी खास दिन

केंद्र सरकार ने नाराज सिख समाज को खुश करने के लिए विवादित कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए भी खास दिन चुना। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रथम गुरू श्री गुरुनानक देव जी के प्रकाश पर्व के दिन यह घोषणा की। इसके जरिए भी सिखों से करीबी दिखाने की कोशिश की गई।

वीडियो में करतारपुर कॉरिडोर शुरू करते वक्त के फुटेज भी दिखाए गए हैं।

वीडियो में करतारपुर कॉरिडोर शुरू करते वक्त के फुटेज भी दिखाए गए हैं।

3 मिनट 57 सेकेंड के वीडियो से दिखाई उपलब्धियां

भाजपा ने सिख समाज के लिए गिनाए काम के साथ 3.57 मिनट की वीडियो भी जारी की है, जिसके जरिए सिख समाज के लिए करतारपुर कॉरिडोर खुलवाने से लेकर बाकी काम गिनवाए गए हैं।

भाजपा ने किसान आंदोलन के दौरान ही यह बुकलेट भी जारी की थी।

भाजपा ने किसान आंदोलन के दौरान ही यह बुकलेट भी जारी की थी।

पहले 71 पेज की बुकलेट जारी कर चुकी सरकार

सिखों को अपने साथ जोड़ने के लिए भाजपा पहले भी कोशिश कर चुकी है। इसी साल की शुरूआत में भाजपा ने 71 पेज की बुकलेट जारी की थी। ‘प्रधानमंत्री मोदी और उनकी सरकार का सिखों के साथ विशेष संबंध’ शीर्षक से यह बुकलेट तैयार की गई थ,। जिसमें करतारपुर कॉरिडोर का निर्माण, सिख विरोधी दंगों में कार्रवाई, लंगर को GST मुक्त करने, आतंकवाद के दौर में बनी ब्लैक लिस्ट से सिखों के नाम हटाने जैसे काम गिनाए गए थे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *