ओमिक्रॉन का खतरा:कोविड टास्क फोर्स के चीफ बोले

  • Hindi News
  • National
  • Covid Task Force Chief Dr VK Paul Vaccines May Get Ineffective Need Modify

नई दिल्ली3 घंटे पहले

भारत की कोविड टास्क फोर्स के चीफ डॉक्टर वीके पॉल ने कहा है कि देश को ऐसे वैक्सीन प्लेटफॉर्म तैयार करने चाहिए, जिनमें वायरस के बदलते वैरिएंट के मुताबिक तेजी से बदलाव किए जा सकें। कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट के फैलने की चिंता के बीच डॉ. पॉल ने गुरुवार को कहा कि भारत में वायरस उस स्टेज की तरफ बढ़ता दिखाई दे रहा है, जब उससे कम या मध्यम संक्रमण फैलता है। इस स्थिति को एंडेमिसिटी कहा जाता है।

डॉ. पॉल ने कहा, ‘ऐसी स्थिति भी आ सकती है कि वायरस के सामने हमारी वैक्सीन असरदार न रहें। पिछले तीन हफ्ते में ओमिक्रॉन के साथ रहते हुए हमने देखा है कि ऐसे हालात बने हैं। इनमें से कुछ मामले सही भी हो सकते हैं। हालांकि अभी तक हमारे पास इसकी पूरी जानकारी नहीं है, इसलिए वैक्सीन के बेअसर होने के बारे में पुख्ता तौर पर कुछ नहीं कहा जा सकता।’ हालांकि, उन्होंने चेतावनी दी कि वायरस को हल्के में नहीं लेना चाहिए।

जरूरत के हिसाब से वैक्सीन को मॉडिफाई करना होगा

पॉल ने कहा कि फ्लू जैसी दिक्कतों का सामना भारत हर साल ही कर रहा है। उन्होंने कहा, “हम कितनी जल्दी ऐसी वैक्सीन बना सकते हैं जिसमें एक ही प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल हो, लेकिन वह नए वैरिएंट पर असरदार हो। हमें उस हालात के लिए खुद को तैयार करना होगा जब हम जरूरत के हिसाब से टीके में बदलाव कर पाएं। यह हर तीन महीने में नहीं हो सकता, लेकिन शायद हर साल हो सकता है।”

यह तस्वीर जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल इलाके की है। यहां घर-घर टीकाकरण अभियान के तहत वैक्सीन लगाई जा रही है।

यह तस्वीर जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल इलाके की है। यहां घर-घर टीकाकरण अभियान के तहत वैक्सीन लगाई जा रही है।

कोरोना ने सिखाया कि वायरस को हल्के में न लें

पॉल ने कहा कि कोरोना ने सिखाया है कि वायरस को हल्के में नहीं लिया जा सकता है। उन्होंने कहा कि हेल्थ को लेकर जो अनिश्चितता बन रही है, उस पर ध्यान देना चाहिए। उन्होंने कहा कि महामारी खत्म नहीं हुई है। हम अनिश्चितता से निपटना जारी रखेंगे। भले ही हम एंडेमिसिटी की उम्मीद कर रहे हैं, जो कि एक हल्की बीमारी होगी जिसका हम सामना कर लेंगे।

यह फोटो बंगाल में हावड़ा के एक गांव की है। मंगलवार को यहां लोगों को कोवीशील्ड वैक्सीन लगाई गई।

यह फोटो बंगाल में हावड़ा के एक गांव की है। मंगलवार को यहां लोगों को कोवीशील्ड वैक्सीन लगाई गई।

देश में ओमिक्रॉन के 61 केस हुए

कोरोना का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन भारत में भी तेजी से फैलता दिख रहा है। मंगलवार सुबह दिल्ली में 4 नए केस मिलने के बाद शाम को महाराष्ट्र में भी इसके 8 नए मामले सामने आए हैं। आज संक्रमित हुए 8 में से 7 मरीज मुंबई से और एक वसई-विरार से है। खास बात यह है कि इनमें से कोई भी विदेश नहीं गया था। अब देशभर में नए वैरिएंट के केस बढ़कर 61 हो गए हैं।

मुंबई में सबसे ज्यादा 10 केस

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी की रिपोर्ट के मुताबिक महाराष्ट्र में अब तक 28 लोग ओमिक्रॉन से संक्रमित हो चुके हैं। इनमें मुंबई में 12, पिंपरी चिंचवाड़ा में 10, पुणे में 2, कल्याण-डोंबीवली, नागपुर, लातूर और वसई विरार में एक-एक मरीज सामने आए हैं। मालूम हो कि देश में कोरोना के खिलाफ टीकाकरण अभियान जारी है। वैक्सीन के अब तक 1.34 अरब डोज लग चुके हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *